Fire Accident in Surat
From desk

A thought for children

ये मुझे व्हाट्सएप से एक मित्र ने भेजा । सोचा आपसे शेयर करूँ, हांलाकि! जरूरत के हिसाब से मैने कुछ बिन्दुओं को जोड़ा है। दरअसल होता यह है कि सुबह 8 घंटे स्कूल में पढ़कर आए बच्चे को फिर 4-5 घंटे की कोचिंग भेज देते हैं। जिंदगी की दौड़ का घोड़ा बनाने के लिए, असलियत… Continue reading A thought for children