Shayari

जमाना बड़े शौक से …

Click Here  1. जमाना बड़े शौक से सुन रहा था / हम ही सो गए अपनी दास्तां कहते-कहते // 2. जमाना भी अजीब है,नाकामयाब लोगों का मज़ाक उड़ाता है     कामयाब लोगों से जलता है // 3। मकानों के भाव यूँ ही बड़ गए.... परिवारों के झगड़ों में बिल्डर कमा गए // 4। कभी मतलब… Continue reading जमाना बड़े शौक से …

Shayari

चलो कुछ पुराने दोस्तों के पास

चलो कुछ पुराने दोस्तों के दरवाजे खटखटाते हैं/ देखते हैं उनके पंख थक चुके है या अभी भी फड़फड़ाते है/ हसते हैं खिलखिलाकर, या होंठ बंद कर मुस्कुराते हैं ! बताते है आपबीती या,सिर्फ सफलताएँ सुनाते है ! हमारा चेहरा देख वो, अपनेपन से मुस्कराते है ! या घड़ी की ओर देखकर, हमें जाने का… Continue reading चलो कुछ पुराने दोस्तों के पास

Shayari

Collection of Shayari

1। नज़र अंदाज़ करने की कुछ तो वजह बताई होती / ’ अब मै खुद में कहाँ कहाँ बुराइया खोजूँ ?   2। जो लिबासों को बदलने का शौक रखते थे कभी / आखरी वक़्त ये कह न पाये कि ये कफन ठीक नहीं //   3.बेवजह दीवार पर इल्ज़ाम है बटवारे का / कई… Continue reading Collection of Shayari