Shayari

चलो कुछ पुराने दोस्तों के पास

2013-03-24-13-39-23

लो कुछ पुराने दोस्तों के दरवाजे खटखटाते हैं/

देखते हैं उनके पंख थक चुके है या अभी भी फड़फड़ाते है/

हसते हैं खिलखिलाकर, या होंठ बंद कर मुस्कुराते हैं !

बताते है आपबीती या,सिर्फ सफलताएँ सुनाते है !

हमारा चेहरा देख वो,

अपनेपन से मुस्कराते है ! या घड़ी की ओर देखकर,

हमें जाने का वक्त बताते है !

चलो कुछ पुराने दोस्तों के दरवाजे खटखते है !!

 

For such exciting Shayari in Hindi, please click HERE. 

 

5 thoughts on “चलो कुछ पुराने दोस्तों के पास”

Comments are closed.